हिंदी हमारी भाषा ही नहीं हमारा सम्मान है, पर आज कल इंग्लिश को बहुत ज्यादा तवज्जो दिया जाता है. मैं यह नहीं कह रहा की इंग्लिश को छोड़कर हिंदी पढ़े पर हिंदी को अपने साथ जरुर रखें क्योंकि हमारे देश का गौरव हिंदी भाषा में ही लिखा गया था. खैर आज मैं उन लोगों के